अन्नपूर्णा मंदिर अब नए स्वरूप में निखरेगा

इंदौर  –  Annapurna Temple शहर के पश्चिमी क्षेत्र स्थित 6 दशक पुराना अन्नपूर्णा मंदिर अब नए स्वरूप में निखरेगा। मंदिर के कायाकल्प की विस्तृत कार्ययोजना तैयार कर ली गई है।

 

 

यह जरुर पढ़े – Chhattisgarh Weather Update : चक्रवात से बस्तर में बारिश

 

 

नया मंदिर पूरी तरह संगमरमर से बनाया जाएगा। इसकी लागत 20 करोड़ रुपये से अधिक होगी।उल्‍लेखनीय है कि आर्य और द्रविड़ स्थापत्य शैली से बना अन्‍नर्णा मंदिर 60 वर्ष पहले बनाया गया था।

 

 

 

इसका निर्माण महामंडलेश्वर स्वामी प्रबानंदगिरीमहाराज ने सन 1959 में किया था।यह मंदिर अपने हाथी गेट के लिए पहचाना जाता है इस म‍ंदिर में तीन फीट उंची संगमरमर की मां अन्नपूर्णा की प्रतिमा स्थापित है।

 

 

 

मंदिर के मुख्य द्वार का निर्माण 1975 में किया गया था।परिसर में माता अन्नपूर्णा, शिव, हनुमान, काल भैरव आदि मंदिर भी बने हैं। मंदिर की बाहरी दीवारों पर पौराणिक आकृतियां भी उकेरी गई है।

 

 

 

परिसर में भगवान काशी विश्वनाथ की साढ़े 14 फीट उंची प्रतिमा भी आकर्षण का केंद्र हैं।जानकारी के अनुसार मंदिर का गर्भगृह, श्रृंगार की चौकी और परिक्रमा स्थल भी बनाए जाएंगे। मंदिर पचास स्तंभो पर बनेगा। मंदिर निर्माण कर रहे कई

 

 

 

कारीगर उस टीम का हिस्सा है जिसने त्रयंबकेश्वर में अन्नपूर्णा मंदिर बनवाया है।आर्किटेक्ट सत्यप्रकाश मंदिर के निर्माण के लिए सिर्फ एक नारियल व एक रुपया लेंगे। सत्यप्रकाश के अनुसार मंदिर की आकृति अक्षरधाम की तरह होगी।