अभिव्यक्ति की आजादी के पक्ष आवाज उठायी

कोलकाता –  जानीमानी अभिनेत्री शबाना आजमी ने शुक्रवार को कहा कि कलाकारों की अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर अंकुश लगाने की किसी भी कोशिश का ‘जबर्दस्त विरोध’ करना होगा

 

जरूर पढ़ें –

7 बॉलीवुड एक्टर्स देखते ही देखते बर्बाद कर लिया अपना करियर

 

 

 

जिसका पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने समर्थन किया। यहां 25 वें कोलकाता अंतरराष्ट्रीय फिल्मोत्सव के समापन दिन अपने संबोधन में आजमी ने कहा कि बहुलतावाद और मिलीजुली संस्कृति एक ऐसी चीज है

 

 

 

जिस पर भारत को सदैव नाज रहा है और संविधान उसकी गारंटी देता है।कई दशक के अपने करियर के दौरान कई प्रशंसनीय फिल्मों में अभिनय कर चुकीं आजमी ने कहा कि कला को सामाजिक बदलाव के औजार के रूप में इस्तेमाल किया जाना चाहिए।

 

 

 

 

मैं मानती हूं कि सिनेमा में यह योग्यता है और यह (सामाजिक बदलाव) तभी संभव है जब कलाकारों को अभिव्यक्ति की स्वतंत्रा दी जाए।फिल्म ‘अर्थ’ की अभिनेत्री ने कहा

 

 

 

 

कि कला का उद्देश्य उस किसी भी विषय पर रूचि जगाना और चर्चा शुरू करना है जिसे समाज वर्जना मानता है। अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर अंकुश लगाने की किसी भी कोशिश का जर्बदस्त विरोध किया जाएगा।

 

 

 

बाद में बनर्जी ने अपने समापन भाषण में कहा कि आज के समय में इसकी बहुत जरूरत है। लोगों की अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता को नहीं छीना जा सकता है… हमारा संविधान लोकतांत्रिक अधिकारों को सुरक्षा प्रदान करता है ।