महोबा: तीन सौ दिन पूरे होने पर अनशनकारियों ने किया दीपदान

महोबा- पृथक बुंदेलखंड राज्य की मांग को लेकर पिछले साल 28 जून को शुरू हुए अनशन को आज 300 दिन पूरे हो गये। भीषण गर्मी से लेकर बरसात व जाड़े के सभी मौसम झेलते हुए।
अपने सहयोगियों के साथ लगातार अनशन पर डटे बुंदेली समाज के संयोजक तारा पाटकर ने पूर्व संध्या पर अनशन स्थल में दीपदान किया और ईश्वर से संघर्ष जारी रखने की शक्ति मांगी।
दीपदान कार्यक्रम शाम 7.30 बजे किया गया जिसमें पूर्व सैनिक, सेवानिवृत्त शिक्षक समेत तमाम लोग शामिल हुए। आल्हा चौक स्थित अनशन स्थल को दीयों से सजाया गया। फूल बिखेरे गये।
उसके बाद अनशन स्थल के सामने पश्यावत हाथी पर सवार अमरवीर आल्हा को नमन किया गया। तारा पाटकर ने बताया कि अपने तीन सौ दिन के अनशन के दौरान सामूहिक मुंडन कार्यक्रम, हस्ताक्षर अभियान, पोस्टकार्ड अभियान चलाए गये।
बहनों ने प्रधानमंत्री को हजारों राखियां भेजीं। व्यापारी संगठनों, वकील, पूर्व फौजिओं समेत ज्यादातर समाज के संगठनों ने अनशन के समर्थन में प्रधानमंत्री को ज्ञापन भेजे।
महोबा से उठी चिंगारी, बांदा, झांसी, ललितपुर, हमीरपुर, जालौन व चित्रकूट तक पहुंच गयी। अनशन, धरना-प्रदर्शन, यात्राएं चालू हो गयी। विधानसभा में मुद्दा गूंजा।
संसद में उठा। जब तक बुंदेलखंड राज्य नहीं बनता, आंदोलन जारी रहेगा। दीपदान कार्यक्रम में कृष्णा शंकर जोशी, डा. प्रभु दयाल, अमर चंद्र विश्वकर्मा, सुरेश कुमार सोनी, हरगोविन्द, अशोक पाटकार, हरिश्चंद्र वर्मा, अनुरूद्ध मिश्र, जसवंत सेंगर समेत तमाम लोग मौजूद रहे।