Sun. May 26th, 2019

ये कैसी कार्रवाई पीड़िता के घर ही पहुंच गए जांच करने

इटारसी- ग्राम पंचायत मलोथर निवासी पूर्व पंच वासुदेव लौवंशी को गरीबी रेखा का कार्ड मांगने के बदले में कथित तौर पर पांच हजार रुपए मांगने वाली महिला पटवारी लक्ष्मी यादव की शिकायत करना महंगा पड़ गया। इस शिकायत की जांच करने के आदेश तहसीलदार तृप्ति पटेरिया ने देकर नायब तहसीलदार पूनम साहू, आरआई राजकुमार पटेल को भेजा था, लेकिन इस टीम के अफसरों ने बयान लेने की बजाए लौवंशी के पूरे घर की छानबीन करते हुए उलट पुलट कर डाला।उसका आरोप है कि मेरे घर के बिस्तर, कपड़े, आलमारी खंगालकर सारा सामान फैला दिया गया, मुझसे पूछा गया कि कितनी रोटी खाते हो अनाज कहां से लाते हो। जांच दल के रवैए से लौवंशी आहत हुए हैं उनका कहना है कि मामले की शिकायत मानव अधिकार आयोग को करेंगे।

क्या है मामला-मलोथर के पूर्व पंच लौवंशी का दावा है कि वे बीपीएल श्रेणी में आते हैं। परिवार में दो लड़कियों की शादी कर दी है, अब एक बेटा और बेटी भी है। उन्हें उज्जवला कनेक्शन मिला है, घर की छत भी पीएम आवास से मिली है। पहले पंचायत से उन्हें बीपीएल कार्ड मिला था, लेकिन सचिव संतोष साध ने पटवारी अमल सिंह राठौर से मिलकर कथित तौर पर उनका कार्ड रद्द करा दिया गया, जब दोबारा नाम जुड़वाने पटवारी लक्ष्मी यादव से कहा तो उन्होंने पांच हजार रुपए की डिमांड की। इसकी शिकायत उन्होंने सीएम कमलनाथ से लेकर सारे अफसरों को 26 फरवरी को की, जिसकी जांच तहसीलदार से कराने के आदेश आ गए।
जांच टीम भेजी थी-जांच दल में प्रशिक्षु नायब तहसीलदार पूनम साहू, आरआई राजकुमार पटेल सरपंच-सचिव को लेकर लौवंशी के घर गए और तलाशी के नाम पर रोटी का डिब्बा, बिस्तर पेटी, आलमारी सब कुछ तितर-बितर कर दिया, तहसीलदार के मुताबिक जांच इस बात की होना थी कि पटवारी की शिकायत का क्या मामला है। अफसरों के इस रवैए से लौवंशी और उनका परिवार आहत हुआ है। उनका कहना है वे इस मामले की शिकायत करेंगे।
यह भी पूछा अफसरों ने-लौवंशी से अफसरों से पूछा कि तुम और पत्नी कहां मजदूरी करते हैं। बच्चों को कैसे पढ़ाया इसके पैसे कहां से आए। लौवंशी बताते हैं उनके पास कोई पैतृक जमीन नहीं है और न ही कोई संपत्ति है।
झे जानकारी नहीं-मैंने पटवारी की शिकायत मामले में जांच दल को भेजा था, लेकिन टीम ने वहां क्या किया है, इसकी जानकारी मुझे नहीं है। कल नायब तहसीलदार मुझे रिपोर्ट देंगी फिर बता सकेंगे
%d bloggers like this: