राठ में चल रहे फर्जी अस्पताल पर कार्यवाही न करने पर डीएम ने सीएमओ को जमकर लताड़ा
1 min read

राठ में चल रहे फर्जी अस्पताल पर कार्यवाही न करने पर डीएम ने सीएमओ को जमकर लताड़ा

राठ में चल रहे फर्जी अस्पताल पर कार्यवाही न करने पर डीएम ने सीएमओ को जमकर लताड़

*फोटो– तहसील दिवस में सीएमओ डॉ गीतम सिंह की फटकार लगाते डीएम राहुल पांडेय*

राठ। कस्बे में सरकारी अस्पताल के पास चल रहे फर्जी अस्पताल के संचालन में स्वास्थ्य कर्मियों की भूमिका को संदिग्ध मानते हुए डीएम राहुल पांडे ने भरे तहसील दिवस में सीएमओ को जमकर फटकार लगाई।
बताते चलें कि राठ में संचालित हो रहे फर्जी अस्पतालों में सरकारी अस्पताल के पास संचालित अवैध अस्पताल हमेशा सुर्खियों में रहता है। बावजूद इसके स्वास्थ्य विभाग के स्थानीय से लेकर जिला स्तरीय अधिकारी विशेषकर सीएमओ भी उक्त अस्पताल पर कार्यवाही करने से भय खाते हैं। कारण अस्पताल संचालक की दबंगई है या बेहतरीन सेटिंग है जिससे ये अस्पताल धडल्ले से संचालित हो रहे हैं ये बड़ा प्रश्न है। आज जब तहसील दिवस के दौरान एक युवक राठ में संचालित हो रहे फर्जी अस्पताल पर कार्यवाही की शिकायत करने डीएम राहुल पांडेय के पास पहुंचा तो डीएम ने उक्त विषय में सीएमओ डॉ गीतम सिंह से जानकारी लेनी चाहिए जिसपर सीएमओ ने अपनी सफाई में बोला कि उस अस्पताल का वो निरीक्षण कर चुके हैं। वहां कुछ नहीं मिला। फिर उन्होंने पूछा कि बच्चे की मौत हुई है या नहीं जिसपर सीएमओ हूं में सर हिलाते हुए चुप हो गए।
बस इतना सुनते ही डीएम का पारा चढ़ गया और कार्यवाही न करने पर सीएमओ पर कार्यवाही करने की बात कही। और सीएमओ को जमकर फटकार लगाई और सीओ राठ को निर्देश देते हुए एफआईआर लॉन्च करने की बात कही। बात तो सही ये भी है कि फर्जी अस्पताल के संचालन की खबर को अनेकों बार अखबारों में प्रकाशित किया गया। लेकिन सीएमओ के कान पर कभी जूं नहीं रेंगी। आलम ये है कि किसी भी दिन कोई बड़ी दुर्घटना इन फर्जी अस्पतालों में हो सकती है। मामले की गंभीरता को देखते हुए डीएम ने कार्यवाही के निर्देश दिए हैं। अब जिलाधिकारी की बात को सीएमओ द्वारा कितना गंभीरता से लिया जाता है ये तो भविष्य के गर्त में है।

 

इनसेट

राठ में सरकारी अस्पताल के पास चल रहे फर्जी अस्पताल पर कार्यवाही की मांग

राठ,हमीरपुर। कस्बे में सरकारी अस्पताल के पास चल रहे फर्जी अस्पताल में डिलेवरी दौरान हुई एक छह माह के मासूम की मौत के बाद कार्यवाही न होने व धडल्ले से संचालित हो रहे इस अवैध अस्पताल में स्थानीय चिकित्साकर्मियों के संलिप्त होने का आरोप लगाते हुए तहसील दिवस में एक युवक ने तहसील दिवस में जिलाधिकारी को प्रार्थना पत्र सौंप कार्यवाही की मांग की। युवक के प्रार्थना पत्र पर जिलाधिकारी हमीरपुर ने सीएमओ को फटकार लगाते हुए कार्यवाही की मांग की है।
कस्बे के पठनऊ मुहल्ले निवासी युवक रोहित यादव ने बताया कि कस्बे के सरकारी अस्पताल के पास एक फर्जी अस्पताल संचालित हो रहा है। जिसे एक गांव का प्रधान व उसकी आशा बहु पत्नी संचालित कर रहे हैं। अस्पताल में कोई चिकित्सक नहीं है बावजूद उसके उस अस्पताल में धडल्ले से डिलेवरी व ऑपरेशन इन लोगों के द्वारा किए जाते हैं। कुछ समय पूर्व इन्हीं के अस्पताल में एक छह माह के मासूम की डिलेवरी के दौरान मौत हो गई थी। जिस पर इन लोगों ने पीड़ित से सांठ गांठ कर मामला को दबा दिया था। इससे पूर्व भी एक फर्जी अस्पताल में एक युवक की मौत हो चुकी है। युवक ने स्वास्थ्य कर्मियों की भी संलिप्तता की बात कही है। इस मामले को गंभीरता से लेते हुए डीएम राहुल पांडे ने कार्यवाही करने के सीएमओ और सीओ राठ को निर्देश दिए हैं।