निरीक्षण टीम राठ वन विभाग के इशारे पर जांच एक पक्षीय करके प्रकाशित खबर को बताया फर्जी खबर बताया
1 min read

निरीक्षण टीम राठ वन विभाग के इशारे पर जांच एक पक्षीय करके प्रकाशित खबर को बताया फर्जी खबर बताया

रिपोर्ट-देवेंद्र राजपूत जिला व्यूरो राठ हमीरपुर

राठ (हमीरपुर): दिन गुरुवार को समाचार पत्रों में प्रकाशित अवैध लकड़ी कटान की खबर को वन विभाग के उच्चाधिकारियो ने संज्ञान में लेते हुए उप प्रभागीय वनअधिकारी सहित पांच सदस्ययीय टास्क फोर्स टीम का गठन कर राठ रेंज में हो रही अंधाधुंध कटान की शिकायत की जांच कराई है। जहाँ अधिकारियों ने उक्त प्रकाशित खबरों में सत्यता व निष्पक्ष जांच न करके ओपचारिकताये पूरी करते हुए वन विभाग राठ से मिलकर कैंथा, गिरवर आदि क्षेत्र के जंगलों में वन दरोगा और वन क्षेत्र अधिकारी की मिलीभगत से पेड़ो को काटे गए थे। खबर का संज्ञान लेते हुए उच्चअधिकारियो ने उप प्रभागीय वनाधिकारी आदर्श कुमार सिंह सहित पांच सदस्यीय टास्क फोर्स की टीम को गठित कर निरीक्षण करने के लिए भेजा। टीम ने राठ रेंज के वन क्षेत्र में मौके पर न पहुंचकर अन्य जगहों पर निरीक्षण करके ओपचारिकताये पूरी की गई। जबकि उपप्रभागीय वन अधिकारी आदर्श कुमार सिंह ने बताया की टास्क फोर्स टीम के साथ उन्होंने शिकायत की हुई सारी जगहों पर जाकर निरीक्षण कर किसानो से वार्ता की तो किसानों ने बताया की कुछ पेड़ उनके स्वयं के खेतो पर लगे हुए थे। जिनसे खेत की जुताई करने में दिक्कत होती थी। जिस वजह से उनको उन्होंने काटा है व काटे गए पेड़ छूट प्रजाति के है। बताया की शिकायत के एक भी बिंदु पर अवैध लकड़ी का कटान नहीं पाया गया है। टीम के द्वारा कटान की खबर को असत्य व भ्रामक बताया है। जबकि निरीक्षण गलत तरीके से और जिस स्थान पर पेड़ो को काटा गया है उस स्थान का निरीक्षण नहीं किया गया। जिससे यह सिद्ध होता है कि निरीक्षण टीम राठ वन विभाग के इशारे पर जांच एक पक्षीय करके प्रकाशित खबर को फर्जी खबर बताया गया है। जबकि रात दिन राठ वन विभाग की मिलीभगत से पेड़ो की अंधाधुंध कटाई की जा रही है। निरीक्षण के दौरान टीम के साथ क्षेत्रीय वनाधिकारी राठ सत्येंद्र सिंह, वन दरोगा शोभाराम, वन दारोगा सतीश चंद्र व वन रक्षक इशित्याक खान मौजूद रहे। निश्चित रूप से मामले में जिम्मेदार जिला प्रशासन की तरफ से एक अलग टीम गठित करके पुनः राठ क्षेत्र का निरीक्षण कराना चाहिए। ताकि इसमें संलिप्त वन दरोगा सतीश चन्द्र और वन क्षेत्र अधिकारी सहित बीते दिनों हमीरपुर वन विभाग के उप प्रभागीय वनअधिकारी सहित गठित पांच सदस्ययीय टास्क फोर्स टीम द्वारा जिस तरीके से ओपचारिकताये पूरी करते हुए जांच की गई है। तो उसकी सारी सच्चाई सामने आ सके।