पत्रकारों को सुरक्षा के साथ संवैधानिक सुविधाएं दी जाएं:हरगोविंद कुशवाहा
1 min read

पत्रकारों को सुरक्षा के साथ संवैधानिक सुविधाएं दी जाएं:हरगोविंद कुशवाहा

रिपोर्ट-शौकीन खान/कौशल किशोर गुरसरांय

गुरसरांय(झांसी)। 27 मई को एक वाटिका में बाबू बालेश्वर जी ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन के संस्थापक की 37 वी पुण्यतिथि पर उन्हे श्रद्धासुमन अर्पित कर पत्रकारिता जगत में उनकी भूमिका ऐतिहासिक स्मरणीय के रूप में मनाते हुए ग्रामीण क्षेत्र में पत्रकारों की भूमिका से लेकर उनके द्वारा दिये योगदान की बदौलत ग्रामीण क्षेत्रों में दबे कुचले लोगों की आवाज निर्भीकता के साथ लेखनी के माध्यम से लोकतंत्र के चौथे स्तंभ को दी मजबूती अपने में हमेशा याद की जाएगी। इस मौके पर एक पत्रकारिता के क्षेत्र में कैसे लोकतंत्र के चौथे स्तंभ को मजबूती प्रदान की जाए भव्य सेमिनार हुआ। इसके बतौर मुख्य अतिथि बुंदेलखंड ही नहीं प्रदेश के सर्वोदयी विचारक और प्रख्यात ज्ञाता एडवोकेट हरगोविंद कुशवाहा दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री उत्तर प्रदेश शासन ने अपने उद्बोधन में कहां कि लोकतंत्र के चौथे स्तंभ को संवैधानिक सुरक्षा व्यवस्था से लेकर जिस प्रकार से लोकतंत्र के अन्य तीन तंत्रों को आर्थिक संवैधानिक आदि आदि सुरक्षात्मक सुविधाएं प्रदान हैं उस हिसाब से लोकतंत्र के चौथे स्तंभ पत्रकारों को सुविधा न होने से आज बड़ी चुनौती निष्पक्ष लेखनी के लिए बड़ गयी है। मेरा प्रयास होगा कि सभी पत्रकारों को मान्यता के साथ-साथ सुरक्षा व्यवस्था से लेकर आर्थिक तौर पर जिस प्रकार लोकतंत्र के तीनों तंत्रों को सुविधाएं प्रदान है पत्रकारों को भी यह सुविधाएं प्रदान हो ताकि स्वस्थ व मजबूत लोकतंत्र की स्थापना हो सके। हरगोविंद कुशवाहा ने कहा बुंदेलखंड की माटी पर ही राजा रामचंद्र जी से लेकर विभिन्न साधु संतों विद्वानों की यह तपोभूमि रही हैं। इस बारे में उन्होंने क,ख,ग संपूर्ण जानकारी साझा करते हुए बेतवा नदी एवं धसान नदी में विभिन्न स्थानों का इतिहास और महापुरुषों की कर्म स्थली के बारे में जानकारियां दी। इस दौरान उत्तर प्रदेश सरकार से अटल श्री सम्मान से राजकीय सम्मान प्राप्त सुप्रसिद्ध ज्योतिषचार्य पंडित दीपेंद्र अड़जरिया ने पत्रकारों से अपने संबोधन में कहा कि नारद मुनि के बारे में जरूर आप लोग अध्ययन करें ताकि आपकी कलम को और गति प्रदान हो सके। वहीं थाना प्रभारी इंस्पेक्टर संतोष कुमार अवस्थी ने कहा कि समाज के दबे कुचले लोगों की आवाज पत्रकार पक्ष और विपक्ष के बीच निष्पक्ष लेखनी के माध्यम से अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है और उनके कामों में काफी जोखिम हुआ करता है इसलिए निष्पक्ष लेखनी के लिए पत्रकारों का योगदान हमेशा सराहनीय रहा है।वहीं अखिल भारतीय गायत्री परिवार के प्रमुख एडवोकेट सतीश चौरसिया ने बाबू बालेश्वर लाल जी को पत्रकारिता जगत में पत्रकारों की समस्याओं को लेकर जो संघर्ष किया है वह आज ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन जहां शासन में प्रतिभाग करता है। और ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन प्रदेश में सर्वाधिक प्रभावशाली संगठन है।कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे कुंवर रामकुमार सिंह ने अपने उद्बोधन में कहा कि हम सबको निडरता निष्पक्षता से अपने काम को करना चाहिए।और इसमें डरने की कतई जरूरत नहीं है। जब आप सत्यता से लिखेगे तो आपको अदृश्य शक्ति मिलेगी।और आप अपने मुकाम तक पहुंचेंगे। उन्होंने उदाहरण देते हुए बताया लंका में जब हनुमान जी की पूँछ में आग लगाई गई तो पूरी लंका जलकर ध्वस्त हो गई लेकिन सही रास्ते पर चलने वाले विभीषण का कोई बाल भी बांका नहीं कर सका जब आप सही लेखनी लिखेंगे तो आप पूरी तरह सफल ही नही बल्कि यहां न रहने के बाद भी आपके द्वारा किए अच्छे कामों के लिए एक याद के रूप में बहुत बड़ी पूंजी छोड़ जायेंगे।इस दौरान ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन और समाजसेवियों द्वारा मुख्य अतिथि हरगोविंद कुशवाहा को स्मृति चिन्ह एवं अंग वस्त्र श्रीफल देकर तो ज्योतिषाचार्य पंडित दीपेंद्र अड़जरिया, इंस्पेक्टर संतोष कुमार अवस्थी, सुप्रसिद्ध कवि लाल खान,रघुवीर सिंह यादव के साथ-साथ महिला सशक्तिकरण के रूप में बेहतरीन कार्य के लिए महिला एसआई शिवानी तंवर,एसआई अरविंद कुमार पाल को अंगवस्त्र श्रीफल एवं माल्यार्पण कर सम्मानित किया गया।इस दौरान प्रमुख रूप से अशोक कुमार सेंन,अखिलेश तिवारी सुट्टा,सुनील जैन डीकू,संदीप कुमार श्रीवास्तव,वेद दुबे,कौशल किशोर,सार्थक नायक,सोम मिश्रा,आशुतोष गोस्वामी,दीपक जैन,संजय श्रीवास्तव सरसैड़ा,हरिश्चंद्र नायक,आयुष त्रिपाठी,वीरेंद्र यादव,शौकीन खान,बलराम पटेल,नितिन मोदी,अजय वर्मा,समीर जैन,राजा खांन आदि पत्रकार जहां मौजूद रहे।वहीं प्रमुख समाजसेवी धर्मेंद्र सोनी बल्ले,चेयरमैन प्रतिनिधि राजा चौहान,अनिल तिवारी,कपिल तिवारी,कुलदीप खरे आदि लोग मौजूद रहे। वहीं आज हुए कवि सम्मेलन में कवि लाल खान व रघुवीर सिंह यादव द्वारा बुंदेली भाषा में धार्मिक व सामाजिक परिदृश्य में काव्य के माध्यम से दी प्रस्तुति की लोगों ने सराहना की।सभा का संचालन संदीप श्रीवास्तव ने एवं अंत में आभार व्यक्त दीपक जैन ने व्यक्त किया।