हीट वेव से बचने के लिए प्रभारी गुरसरांय डॉक्टर तिवारी,बामौर प्रभारी डॉक्टर राठौर आये पूरी तरह एक्शन में
1 min read

हीट वेव से बचने के लिए प्रभारी गुरसरांय डॉक्टर तिवारी,बामौर प्रभारी डॉक्टर राठौर आये पूरी तरह एक्शन में

रिपोर्ट-शौकीन खान/कौशल किशोर गुरसरांय

गुरसरांय (झांसी)। भीषण गर्मी को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग के प्रभारी चिकित्सा अधिकारी गुरसरांय डॉक्टर अंशुमान तिवारी और विकासखण्ड बामौर मुख्यालय स्थित प्रभारी डॉक्टर ओपी राठौर ने गर्मी के मौसम से हीट वेव से बचने को लेकर पूरी तरह एक्शन में आ गए हैं जहां गुरसरांय अस्पताल में सभी स्टाफ को डॉक्टर अंशुमान तिवारी ने विशेष निर्देश जारी करते हुए 24 घंटे अस्पताल में हीट वेव से प्रभावित लोगों को तत्काल उपचार के लिए जिम्मेदारियां और व्यवस्थाएं सौपी है वहीं बामौर में प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर ओपी राठौर ने स्टाफ के साथ-साथ आम लोगों से बचने के लिए विशेष जागरूक रहने और अपने स्वास्थ्य को ध्यान में रखने की विशेष अपील करते हुए कहा है कि अकेले रहने वाले बुजुर्गो और बीमार लोगों के स्वास्थ्य की नियत निगरानी करते रहे घर को ठंडा रखने के लिए खिड़की व दरवाजा या सनशैड का प्रयोग करें। पर्याप्त वेंटिलेशन के लिए खिड़कियां खुली रखें। दिन में तेज धूप के समय घर पर रहने का प्रयास करें। शरीर को ठंडा करने के लिए पंखे का प्रयोग करें और छायादार स्थान पर रहे। वही प्रभारी चिकित्सा अधिकारी गुरसरांय डॉक्टर अंशुमान तिवारी ने बताया कि गर्मी में बच्चों का विशेष ध्यान रखें बच्चों को तेज धूप खुले में खेलने से रोके। दोपहर धूप के समय खुले में घर की बालकनी छत और पार्क में ना खेले। बाजार के खाने जंक फूड बच्चों को ज्यादा ना खिलाए।पर्याप्त मात्रा में तरल पदार्थ जूस पिलाये।नंगे बदन पाँव बच्चों को बाहर न जाने दें। उक्त दोनों प्रभारियों डॉ अंशुमान तिवारी डॉक्टर ओपी राठौर का विशेष फोकस रहा कि शरीर को ढके और ढीले एवं हल्के रंग के कपड़े पहने। घर ऑफिस कार्यस्थल में तीव्र धूप को अंदर आने से रोके।दोपहर 12:00 से 4:30 के मध्य तथा संभव ही घर से बाहर जाने से बचे। जबकि विशेष तौर पर धूप में परिश्रम काम वाले और कसरत ना करें बच्चों को तेज धूप में खुले में न खेलेने दे। दोपहर 12:00 के मध्य धूप में घर से बाहर न निकले।