नवविवाहित युवक ने पेड़ पर फंदा लगाकर जीवन लीला की खत्म,क्या प्रेम विवाह बना आत्महत्या का कारण?
1 min read

नवविवाहित युवक ने पेड़ पर फंदा लगाकर जीवन लीला की खत्म,क्या प्रेम विवाह बना आत्महत्या का कारण?

रिपोर्ट-शौकीन खान/कौशल किशोर गुरसरांय

गुरसरांय (झांसी)। दो माह पहले हुआ युवक का विवाह के बाद 13 मई सोमवार को युवक ने खेत पर लगे बबूल के पेड़ पर फंदा लगाकर अपनी जीवन लीला समाप्त करने का बहुचर्चित मामला प्रकाश में आया है विस्तृत जानकारी के मुताबिक गुरसरांय थाना अंतर्गत मोहल्ला नारायणपुरा मोठ़ रोड नई बस्ती निवासी महेंद्र कुशवाहा पुत्र बब्लू कुशवाहा को प्रातः संतोष यादव के खेत में लगे बबूल के पेड़ पर महेंद्र कुशवाहा को रस्सी से फंदा गले में लगा हुआ लटकते देखा गया जिसकी सूचना थाना गुरसरांय मृतक के पिता बब्लू कुशवाहा ने थाना गुरसरांय दी और जब मौके पर गुरसरांय थाना प्रभारी इंस्पेक्टर संतोष कुमार अवस्थी सहित पुलिस बल पहुंचा तो महेंद्र कुशवाहा पुत्र बब्लू कुशवाहा मृत लटकते देखा गया आनन-फानन शव को फंदे से नीचे उतारा गया और मौके पर पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए मऊरानीपुर भेज कर विधिक कार्रवाई तेजी के साथ चालू कर दी गई। आत्महत्या करने को युवक महेंद्र कुशवाहा क्यों मजबूर हुआ यह जानकारी पूरी तरह स्पष्ट तो नहीं हो पाई लेकिन सूत्र बताते हैं की उसकी जेब से एक सुसाइड नोट भी मिला है जबकि युवक का विवाह 14 मार्च 2024 को शिवा( दहेजरहित) आदर्श विवाह समिति, रानी लक्ष्मी नगर झांसी(उ०प्र०) के तत्वाधान में हुआ था और विवाह पंजीकरण प्रमाण पत्र विवाह पंजीकरण अधिकारी द्वारा जारी किया गया था जिस लड़की से यह विवाह हुआ था वह युवक की स्वजातीय है और दोनों गुरसरांय में एक ही मोहल्ले के रहने वाले थे आखिर मौत का कारण जो उभर कर चर्चा अनुसार उभर कर सामने आ रहा है उसके अनुसार युवक से लड़की पक्ष के लोग इस विवाह से नाखुश थे जिसके चलते लड़के को लगातार शादी के फैसले को बदलने के लिए मजबूर किया जा रहा था और इसमें समाज से लेकर कुछ लोगों ने उसको जबरदस्त दहशत में ले लिया था ऐसी चर्चा बताई जा रही है और लड़की को लड़की पक्ष की लोग अपने साथ रखे हुए थे कहीं भारी दहशत आत्महत्या का कारण बना हो इसको नकारा नहीं जा सकता लेकिन यह आत्महत्या आज पूरे कस्बे से लेकर क्षेत्र में चर्चा का विषय बनी हुई है ठीक है और मृतक का पता से लेकर उसका पूरा परिवार बहुत ही दुखी होने के साथ दहशत में लग रहा है जिससे कुछ भी कहने को तैयार नहीं है हालांकि इस पूरे घटना की उच्चस्तरीय जांच होती है तो आत्महत्या को मजबूर करने वाले लोग सामने आ सकते हैं अब देखना है इस पूरे घटनाक्रम में क्या जांच होती है।