निष्काम कर्मयोगी थे बाबू अयोध्या प्रसाद : प्रदीप जैन आदित्य
1 min read

निष्काम कर्मयोगी थे बाबू अयोध्या प्रसाद : प्रदीप जैन आदित्य

झांसी। कांग्रेस कार्यालय मानिक चौक में कांग्रेस अनुसूचित जाति विभाग के तत्वावधान में पूर्व विधायक व समाज सुधारक बाबू अयोध्या प्रसाद की 47 वीं पुण्यतिथि पूर्व केन्द्रीय मंत्री प्रदीप जैन आदित्य के मुख्य आतिथ्य व अनुसूचित जाति विभाग के प्रदेश सचिव हरवंश लाल के विशिष्ट आतिथ्य एवं अमीर चंद आर्य की अध्यक्षता में श्रद्धापूर्वक मनाई गई ।

इस अवसर पर आयोजित स्मृति दिवस समारोह में सर्वप्रथम उपस्थित कांग्रेसजनों ने बाबू जी के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित की। कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए प्रदीप जैन आदित्य ने कहा कि बाबू अयोध्या प्रसाद निष्काम कर्मयोगी थे जिन्होनें दलित समाज में शिक्षा के प्रचार- प्रसार का सामाजिक कुरीतियों के खिलाफ आन्दोलन किया। उन्होनें बुनकर समाज को आत्मनिर्भर बनाने के लिये उन्हें हथकरघा उधोग से जोड़ा। उन्होनें राष्ट्रभाषा हिन्दी आन्दोलन व कोरी जाति को उत्तर प्रदेश में अनुसूचित जाति में शामिल कराने जैसे महत्वपूर्ण कार्यो में सक्रिय भूमिका निभाई। अन्य वक्ताओं में भरत राय, अफजाल हुसैन, अशोक कन्सोरिया, दिनेश कुमार वर्मा, जसवंत अनुरागी, उमाचरण वर्मा, प्रीति श्रीवास, हरिशंकर बाल्मीकि, विशाल दन्डोतिया, सर्वेश सक्सेना, रोवेश खान आदि ने विचार व्यक्त किये। संचालन शैलेंद्र वर्मा शीलू ने किया। अंत में प्रशांत वर्मा ने आभार व्यक्त किया।