मुख्य सचिव ने कानून व्यवस्था की समीक्षा कर दिये आवश्यक दिशा-निर्देश
1 min read

मुख्य सचिव ने कानून व्यवस्था की समीक्षा कर दिये आवश्यक दिशा-निर्देश

झाँसी | मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र ने ईद, रामनवमी, अम्बेडकर जयंती व चैत्र नवरात्रि पर्व के संबंध में वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से समस्त मंडलायुक्तों, जिलाधिकारियों एवं वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के साथ कानून व्यवस्था की समीक्षा कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिये।
अपने संबोधन में मुख्य सचिव ने कहा कि आगामी दिनों में प्रदेश में कई त्योहार आयोजित होंगे। हर एक पर्व शांति और सौहार्द के बीच सम्पन्न हों, इसके लिए स्थानीय जरूरतों को ध्यान में रखते हुए आवश्यक प्रबंध सुनिश्चित किये जायें। प्रदेश में कहीं कोई अप्रिय घटना घटित न हो। त्योहारों के दौरान निर्बाध विद्युत आपूर्ति की व्यवस्था सुनिश्चित करायी जाये। उन्होंने कहा कि किसी भी धर्म पर टीका-टिप्पणी व छोटी सी अफवाह माहौल को खराब कर सकती है और कानून-व्यवस्था की स्थिति उत्पन्न हो सकती है, इसलिये इस पर विशेष नजर रखी जाए।
उन्होंने कहा कि अयोध्या में श्रीराम मंदिर स्थापित होने के उपरांत पहली बार रामनवमी आयोजित होने जा रही है, भारी संख्या में श्रद्धालु अयोध्या आयेंगे। इसे ध्यान में रखते सुरक्षा और सुगम यातायात के लिए समुचित प्रबंध सुनिश्चित किये जायें। सीसीटीवी के द्वारा निगरानी रखी जाये। प्रमुख स्थानों पर मेडिकल कैंप भी लगाये जाये। इसके अलावा प्रदेश के विभिन्न मंदिरों में कार्यक्रम आयोजित होंगे, ऐसे में विशेष तौर पर सतर्कता बरती जाये।
उन्होंने कहा कि प्रदेश में माहौल खराब करने की कोशिश करने वाले अराजकतत्वों के विरुद्ध कठोर कार्यवाही की जाये। संवेदनशील क्षेत्रों में विशेष निगरानी रखी जाये। फील्ड में तैनात सभी अधिकारी यह सुनिश्चित कराएं कि धार्मिक कार्यक्रम, पूजा-पाठ आदि निर्धारित स्थान पर ही हों, किसी भी दशा में सड़क मार्ग व यातायात बाधित कर कोई धार्मिक आयोजन न हो।
उन्होंने कहा कि लोक सभा चुनाव को निष्पक्ष और शांतिपूर्ण ढंग से सकुशल संपन्न कराने के लिये बाहर से आने वाली पुलिस फोर्स के लिए ठहरने और खाने की समुचित व्यवस्था सुनिश्चित करायी जायी। उन्हें किसी प्रकार की असुविधा नहीं होनी चाहिये।
पुलिस महानिदेशक श्री प्रशांत कुमार ने कहा कि प्रदेश के सभी जनपदों में कोई भी धार्मिक आयोजन सड़क मार्ग पर नहीं होना चाहिये। कोई शोभायात्रा/धार्मिक जुलूस बिना विधिवत अनुमति के न निकले। इसके लिये धर्म-गुरुओं के साथ पहले से ही बैठक कर ली जाए। सोशल मीडिया को लेकर अधिकारियों को संवेदनशील रहने की जरूरत है। भीड़भाड़ वाले क्षेत्रों में पुलिस बल का लगातार गश्त होना चाहिये। जनपद के वरिष्ठ अधिकारी भी पेट्रोलिंग में प्रतिभाग करें। हर एक संदिग्ध गतिविधि पर हमारी नजर होनी चाहिए।
बैठक में अपर मुख्य सचिव गृह दीपक कुमार, एडीजी एलओ अमिताभ यश, सचिव गृह डा0 संजीव गुप्ता सहित एनआईसी कक्ष में मण्डलायुक्त बिमल कुमार दुबे, डीआईजी कलानिधी नैथानी, जिलाधिकारी अविनाश कुमार, एसएसपी राजेश एस,सीडीओ जुनैद अहमद सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित रहे।