अवैध अतिक्रमण व गंदगी का साम्राज्य स्थापित होने से सहकारिता विभाग व प्रशासन पर उठ रहे सवाल
1 min read

अवैध अतिक्रमण व गंदगी का साम्राज्य स्थापित होने से सहकारिता विभाग व प्रशासन पर उठ रहे सवाल

रिपोर्ट-शौकीन खान/कौशल किशोर गुरसरांय

गुरसरांय(झाँसी)।सहकारी क्रय विक्रय समिति लिमिटेड गुरसरांय की मोदी चौराहा स्थित कई करोड़ रुपए की बेसकीमती कीमती जगह पर अवैध अतिक्रमण व गंदगी हटाने के लिए गरौठा विधायक जवाहरलाल राजपूत ने अपनी निधि देकर एक सराहनीय काम की शुरुआत तो की लेकिन यह काम धन आवंटित होने के बाद भी बाउंड्रीवॉल निर्माण का काम पूरा नहीं कराया गया।वही क्रय विक्रय समिति की जगह पर अतिक्रमण भी न हटाने और संस्था के इस ग्राउंड में गंदगी के अंबार को न हटाकर कस्बे के लोगों के सामने एक मुसीबत खड़ी कर दी है क्योंकि वर्तमान में यहां इतनी गंदगी है और इस गंदगी से भयंकर संक्रामक बीमारियां पनप रही हैं जिससे भारी जनहानि के साथ-साथ आवारा पशुओं के लिए गंदगी कचरा खाने से जान माल का खतरा बढ़ गया है और इस ग्राउंड में अंदर अराजक तत्वों का जमावड़ा लगा रहता है जिसके चलते पिछले कुछ महीनों पहले मुक्ति संस्था के शव रथ को अराजक तत्वों ने आग के हवाले कर दिया था जिससे वह पूरी तरह बर्बाद हो गया है। तो दूसरी ओर अतिक्रमणकारियों को कहीं न कहीं विभाग से लेकर अधिकारियों और राजनीतिक संरक्षण मिलने के चलते वह मनमाफिक तरीके से यहां पर अवैध कारोबार कर रहे हैं। जिसको लेकर सहकारिता विभाग से लेकर प्रशासनिक अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों की कार्यशैली पर सवाल पर सवाल खड़ें हो रहे हैं की लाखों रुपए विधायक निधि से आवंटित होने के बाद क्रय विक्रय समिति इस संस्था की जो वास्तविक जगह है। उसके चारों ओर निर्धारित क्षेत्रफल जो की नक्शा पर अंकित है उसके अनुरूप निर्माण काम क्यों नहीं हो रहा है और महीनों से इस काम को क्यों छोड़ दिया गया है। कस्बे व क्षेत्र के जागरूक लोगों ने जिला प्रशासन से लेकर उत्तर प्रदेश शासन से जल्द कार्यवाही की मांग की है।