मेजर अखिलेश पिपरैया की सासु मां शांति देवी पंचतत्व में विलीन वैदिक मंत्रों के बीच की गई अंतिम विदाई
1 min read

मेजर अखिलेश पिपरैया की सासु मां शांति देवी पंचतत्व में विलीन वैदिक मंत्रों के बीच की गई अंतिम विदाई

रिपोर्ट-शौकीन खान/कौशल किशोर गुरसरांय

गुरसरांय (झांसी)। डा. राममनोहर लोहिया महिला महाविद्यालय के निदेशक एवं समाजसेवी मेजर अखिलेश पिपरैया की सासु मां शांति देवी 83 वर्ष की आयु में गौलोक वास को सिधार गई। उनके गौलोक वास की जानकारी मिलते ही ग्राम परसुवा सहित आस पास शोक की लहर दौड़ गई।उनका अंतिम संस्कार ग्राम परसुवा में किया गया। प्रातः काल से ही जानकारी मिलते ही गुरसरांय सहित ग्राम के सैकड़ों लोगों का परसुवा पहुंचना शुरू हो गया। सासु मां शांति देवी की अंतिम यात्रा बैंड बाजों के बीच रामनाम सत्य के उदघोष के बीच श्मशान घाट पहुंची वहां पर सैकड़ों लोगों की उपस्थिति के बीच मेजर अखिलेश पिपरैया ने अपनी सासु मां शांति देवी का अंतिम संस्कार वैदिक मंत्रों के बीच कर्मकांडी ब्राह्मण आचार्य पंडित ओम प्रकाश पिपरैया एवं पंडित दिनेश अड़जरिया द्वारा करवाया गया। तत्पश्चात उन्हें मेजर अखिलेश पिपरैया ने मुखाग्नि दी। इस दौरान सैकड़ों लोग उपस्थित रहे। और लोगों ने अंतिम संस्कार में उपस्थित होकर दर्शन किये और श्रद्धांजलि अर्पित की। श्रद्धांजलि सभा के दौरान जन जागरण सेवा संस्थान के अध्यक्ष अभय त्रिपाठी ने कहा कि यही परम सत्य है एक न एक दिन व्यक्ति को इस सांसारिक मोह माया को छोड़कर ईश्वर की शरण जाना ही होता है। वहीं शिक्षक कमलापत उपाध्याय ने कहा कि मां शांति देवी सदैव हम सभी को स्नेह करती थीं और पूरा जीवन उन्होंने परस्वार्थ में निकालकर बैकुंठ धाम को सिधार गई।
अंतिम संस्कार के दौरान आचार्य पंडित ओम प्रकाश पिपरैया, दिनेश अड़जरिया, अरविन्द शास्त्री, संतराम तिवारी, माहेश्वरी शरण द्विवेदी, सुन्दर भान मिश्रा, जगत पाल, आत्माराम दुवे, विनोद दुवे, राजू चौवे, शिव कुमार तिवारी, राम विहारी तिवारी, मुकेश मिश्रा, राम देव, धीरेन्द्र तिवारी, सुनील चौहान, संजय दौदेरिया, कौशलेंद्र प्रताप सिंह राजावत, सभासद भुवनेन्द अड़जरिया, अज्जू मौर्या, फक्कू खान, गिरीश अड़जरिया, धर्मेन्द्र पांचाल, सुरेश श्रीवास्तव सहित सैकड़ों लोग उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *