ललितपुर। विद्युत विभाग में पिछले कई वर्षों से विद्युत उपभोक्ताओं के बकाया चल रहे विद्युत बिलों को व्याज की छूट के साथ निपटने के लिए शासन के निर्देश पर विभागीय अधिकारियों द्वारा ओटीएस स्कीम का संचालन किया जा रहा है। जिसमें विद्युत उपभोक्ताओं को अपना रजिस्ट्रेशन करने के बाद ब्याज रहित बिल जमा करना होता है। लेकिन यह ओटीएस स्कीम धरातल पर कितनी कारगर साबित हो रही है इसका जीता जागता नमूना विद्युत विभाग में उस समय देखने को मिला जब रखे गए लक्ष्य के सापेक्ष दो फेज निकालने के बाद विद्युत विभाग उपभोक्ताओं से वसूली करने में फिसड्डी साबित हुआ। हालांकि अधिशासी अभियंता ने उन सभी विद्युत उपभोक्ताओं से ओटीएस स्कीम का लाभ उठाने का आवाहन किया है जिनके विद्युत बिल बकाया है।
मिली जानकारी के अनुसार विद्युत उपभोक्ताओं के बकाया चल रहे बिलों के निस्तारण के लिए विभागीय अधिकारियों द्वारा ओटीएस स्कीम का संचालन किया जा रहा है जो 8 नवंबर को शुरू हुई थी और 31 दिसंबर तक चलेगी, जिसमें तीन चरण रखे गए थे। इस ओटीएस स्कीम में पहले चरण 8 नवंबर से 30 नवंबर तक, दूसरा चरण 1 दिसंबर से 15 दिसंबर तक तथा तीसरा चरण 16 दिसंबर से 31 दिसंबर तक चलाया जाना था। विधुत विभाग के अनुसार 56317 उन उपभोक्ता को डिस्काउंट लाभ दिया जाना था, जिनका करीब 83 करोड़ का भारी भरकम विधुत विल बकाया चल रहा है और ऑक्टेबल विद्युत विभाग किसी भी तरह निपटाना चाहता है। लेकिन इस ओटीएस स्कीम में विद्युत उपभोक्ताओं ने अपनी रुचि नहीं दिखाई, जिससे विभागीय अधिकारियों द्वारा बकाया विद्युत बल की वसूली नाके बराबर हो पाई है। विभागीय अधिकारियों के अनुसार ओटीएस स्कीम के दो चरण का समय निकालने वाला है और अभी तक सिर्फ 7844 उपभोक्ताओं ने स्कीम का लाभ लेने के उद्देश्य से अपना रजिस्ट्रेशन कराया है और अभी तक बकाया राशि में छूट की स्कीम के साथ लगभग 4 करोड़ ही जमा हो पाया है। हालांकि विद्युत विभाग द्वारा ग्रामीण अंचलों में अधिकारियों के माध्यम से कैंप लगाकर उपभोक्ताओं से ओटीएस स्कीम का लाभ लेने का आवाहन किया जा रहा है और उनका रजिस्ट्रेशन करा कर उनके विद्युत बिल निपटने का काम भी किया जा रहा है इसके बाबजूद उपभोक्ता इस काम में रुचि नहीं दिख रहे हैं। अब विभागीय अधिकारियों को बचे हुए
15 से 31 दिसम्बर तक के तीसरा फेज से काफी उम्मीदें हैं, जिसमें स्कीम के तहत काफी वसूली हो सकती है। हालांकि विभागीय अधिकारियों द्वारा जन जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है और अनाउंसमेंट के माध्यम से भी विद्युत उपभोक्ताओं को जागरूक किया जा रहा है कि वह ओटीएस स्कीम का लाभ उठाएं। लेकिन अब तीसरे फेस में विद्युत विभाग कितनी वसूली कर पता है यह तो आने वाला समय ही बताएगा।
इनका कहना है

इस मामले में अधिशासी अभियंता इं० गोविंद जायसवाल का कहना है कि उपभोक्ताओं की लाखों करोड़ों रुपए की बकाया पड़े हुए बिल के निस्तारण के लिए जनपद में ओटीएस स्कीम लागू की गई थी, जिसका लक्ष्य करीब 83 करोड़ वसूल करना था। लेकिन लक्ष्य के साथ एक दो पेज में बहुत ही कम वसूली हो पाई है, जिसका मुख्य कारण है की स्कीम का लाभ लेने में उपभोक्ताओं ने रुचि नहीं दिखाई। हम विद्युत उपभोक्ता से यह अपील करते हैं कि वह ओटीएस स्कीम का लाभ उठाकर व्याज की छूट का लाभ लें और अपना बकाया विद्युत बिल समय से जमा करें, ताकि उन्हें विद्युत का उपभोग करने में कठिनाइयों का सामना न करना पड़े । विद्युत विभाग के अधिकारी कर्मचारी लगातार विद्युत उपभोक्ताओं के हितों में ठोस कदम उठा रहे हैं और उपभोक्ताओं तक निर्वाधा विद्युत आपूर्ति पहुंच रहे हैं।

झाँसी उत्तर प्रदेश

+ There are no comments

Add yours