ललितपुर। जय अम्बे रक्तदान समिति ललितपुर द्वारा होमगार्ड इमरत रजक ने दूसरी बार और समिति के सक्रिय सदस्य बलराम राज ने किया आठवीं बार रक्तदान। ब्लड बैंक में ब्लड ना होने के कारण मरीजों को ब्लड के लिए काफी परेशानी हो रही है जिससे कि मरीजों को ब्लड नहीं मिल पा रहा है इसी क्रम में समिति द्वारा आज दो जरूरतमंदों को रक्त की व्यवस्था कराई गई जिसमें होमगार्ड इमरत श्रीवास ने महिला मरीज को बी निगेटिव और सक्रिय सदस्य बलराम राज ने डेढ़ वर्षीय बच्चे को बी पॉजिटिव रक्तदान किया और मानवता की मिसाल पेश की। दोनों रक्तदाता ने संदेश दिया कि रक्तदान ही सबसे बड़ा दान माना गया है क्योंकि हमारा रक्त किसी दूसरे के शरीर में जाकर उसकी जान बचा सकता है उसे नई जिंदगी दे सकता है इसलिए जब भी जरूरत पड़े 3 महीने के अंतराल के बाद जरूरतमंदों को रक्तदान अवश्य करें। दोनों मरीजों की परिजनों ने दोनों रक्तदाताओं और समस्त जय अम्बे रक्तदान समिति का अभाव एवं साधुवाद किया और कहा कि वास्तव में आपकी समिति द्वारा हर जरूरतमंदों को रक्त उपलब्ध हो रहा है। दोनों रक्तदाताओं द्वारा रक्तदान करते समय जय अम्बे रक्तदान समिति, ललितपुर के अध्यक्ष एवं उत्तर प्रदेश व्यापार मंडल के युवा नगर अध्यक्ष दीपक राठौर, वरिष्ठ सक्रिय सदस्य कन्हैयालाल रजक (सेवक संघ), सक्रिय सदस्य चन्दन सिंह, विवेक श्रीवास, प्रभुदयाल रजक, रियाज मंसूरी पत्रकार विकास सोनी मौजूद रहे।

झाँसी उत्तर प्रदेश

+ There are no comments

Add yours