दो दिवसीय किसान मेला का आयोजन
1 min read

दो दिवसीय किसान मेला का आयोजन

रिपोर्ट-कहकशां जलाल ब्यूरो चीफ महोबा

राजकीय बहुउद्देशीय औद्यानिक इकाई, छतरपुर रोड महोबा में दो दिवसीय किसान मेला/गोष्ठी का शुभारम्भ मा0 सदर विधायक श्री राकेश गोस्वामी, जिलाधिकारी श्री मृदुल तथा मुख्य विकास अधिकारी श्री चित्रसेन सिंह द्वारा फीता काटते हुये दीप प्रज्जवलित कर किया गया। उद्यान विभाग द्वारा आयोजित किसान मेला में जनपद के समस्त विकास खण्ड के 300-400 कृषकों द्वारा प्रतिभाग किया गया। किसान मेला/गोष्ठी के माध्यम से सरकार द्वारा संचालित योजनाओं के कृषकों तक वृहद प्रचार-प्रसार हेतु उद्यान विभाग, पशुपालन विभाग, मत्स्य विभाग, एन0जी0ओ0 के साथ-साथ आशियाना एफ0पी0ओ0, अरूणोदय सेवा संस्थान-एन0जी0ओ0 तथा प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद्य उद्योग उन्नयन-पीएम एफएमई के उद्यमियों द्वारा अपने प्रदर्शाें के स्टाॅल लगाये गये। किसान मेले में जनपद में बागवानी के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले कृषकों द्वारा अपने प्रदर्शाें का प्रदर्शन किया गया एवं सूक्ष्म सिंचाई संयंत्रों की निर्माता फर्माें में से रिव्यूलस इण्डिया, विनायक इण्डस्ट्रीज, श्री सालासार इण्डस्ट्रीज तथा कैप्टन पाली प्लास्ट प्रा0लि0 द्वारा सूक्ष्म सिंचाई संयंत्रों का प्रदर्शन किया गया। किसान मेला में उपस्थित माननीय तथा अतिथियों द्वारा विभागों, किसानों तथा संस्थाओं द्वारा लगाये गये स्टाॅल का जायजा लिया गया। जिलाधिकारी महोदय द्वारा किसान मेले में कृषकों द्वारा लगाये गये प्रदर्शाें की सराहना करते हुये बागवानी के क्षेत्र में जनपद के बढ़ रहे क्षेत्रफल की प्रशंसा की गई। जिलाधिकारी महोदय द्वारा जनपद महोबा की प्रमुख फसल पान की खेती के क्षेत्रफल के बढ़ाये जाने हेतु अपील की गई तथा पान खेती में आने वाली समस्याओं के त्वरित निदान हेतु आश्वासन दिया गया। मा0 सदर विधायक जी द्वारा सूक्ष्म सिंचाई संयंत्रों के माध्यम से बागवानी तथा कृषि फसलों के क्षेत्रफल को बढ़ाये जाने के लिए कृषकों से अपील की। पूर्व वैज्ञानिक-डाॅ0 रामसेवक चैरसिया द्वारा पान की खेती में आ रही समस्याओं के निदान हेतु जानकारी देते हुये जनपद महोबा की पहचान पान की खेती के क्षेत्रफल बढ़ाने जाने के लिए कृषकों से अनुरोध किया। जिला उद्यान अधिकारी सुरेश कुमार द्वारा कृषकों को बताया गया कि एकीकृत बागवानी विकास मिशन योाजनान्तर्गत बागवानी में मशीनीकरण हेतु प्रयुक्त संयंत्र यथा- पावर ट्रिलर, ट्रैक्टर (क्षमता 20 बीएचपी तक), पैक हाउस, छोटी प्रसंस्करण इकाई, प्याज भण्डार गृह आदि हेतु विभाग द्वारा कुल लागत का 50 प्रतिशत अनुदान के रुप में देय है। साथ ही बताया गया कि मसाला प्याज तथा संकर शाकभाजी फसलों की खेती करने वाले कृषक उद्यान विभाग के वेवपोर्टल http://dbt.uphorticulture.in/ पर अपना आनलाइन पंजीकरण कराते हुये शासन द्वारा नामित आपूर्तिकर्ता फर्म हाफेड तथा नैफेड की इम्पैनल्ड एजेन्सियों से नगद/आर0टी0जी0एस0 के माध्यम से बीज खरीद कर बिल विभाग में प्रस्तुत करें, जिस पर विभाग द्वारा अनुमन्य अनुदान सीधा कृषकों के पंजीकृत बैंक खातों में देय है। सिट्रस विशेषज्ञ औद्यानिक प्रयोग एवं प्रशिक्षण केन्द्र बरूआसागर द्वारा कृषकों को नींबू वर्गीय फसलों की खेती व उनमें आने वाली समस्याओं के निदान की जानकारी दी गई। इसके साथ ही बागवानी फसलों के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले 10 कृषकों को माननीय अतिथियों द्वारा शाॅल भेट कर सम्मानित किया गया। किसान मेला/गोष्ठी का संचालन डाॅ0 हरीप्रकाश नामदेव, विषय वस्तु विशेषज्ञ द्वारा किया गया। किसान मेला में सिट्रस विशेषज्ञ, उप कृषि निदेशक, श्री बृजेन्द्र कुमार वर्मा-योजना प्रभारी, श्री देवीचरन क्षक्षक्षक्षक्षक्षक्षक्षक्षक्षक्षक्षक्ष कुशवाहा-उद्यान निरीक्षक, सुश्री अमिता सिंह-सहायक उद्यान निरीक्षक एवं कृषि विज्ञान केन्द्र के वैज्ञानिकों सहित जनपद के कृषकों द्वारा प्रतिभाग किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *