झासी। समाजवादी पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं ने संविधान निर्माता डा. भीमराव अंबेडकर का परिनिर्वाण दिवस कचहरी चौराहे पर स्थित अम्बेडकर जी की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर पुष्पांजलि अर्पित की । तत्पश्चात पार्टी कार्यालय पर विचार संगोष्ठी सम्पन्न हुई, अध्यक्षता जिलाध्यक्ष बृजेंद्र सिंह यादव ने की। वक्ताओं ने कहा कि बाबा साहब ने संविधान का निर्माण कर समाज के दलित दबे कुचले शोषित वंचित पीड़ित मजलूमों को न्याय दिलाने का कार्य किया। बाबा साहब के संविधान में अमीर-गरीब छोटे- बड़े सभी के लिए एक वॊट का प्रावधान किया था गरीब अनुसूचित जातियों एवं पिछड़े समाज को समाज की मुख्य धारा में शामिल करने के लिए किए गए प्रयासों को भुलाया नहीं जा सकता।
संविधान निर्माता डा. भीमराव अंबेडकर की बाबा की पुण्य तिथि को सामाजिक समरसता दिवस के रूप में मनाते हुए मुख्य अतिथि पूर्व विधायक सतीश जतारिया ने कहा कि डा. आंबेडकर ने संविधान की रचना कर सबको अधिकार दिये, उन्होंने वंचित समाज को उनका हक और अधिकार दिलाने का काम किया, उनका जीवन जातीय विषमता, छुआछूत, सामाजिक अंतर को दूर करने के लिए समर्पित रहा। इस दिन हम सभी को संकल्प लेने की जरूरत है कि अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा देंगे। उनके बताए रास्ते पर चलेंगे। उन्होंने कहा कि बाबा साहब ने गरीब मजदूरों के अधिकारों के लिए संघर्ष किया। इस अवसर पर अध्यक्षता कर रहे जिलाध्यक्ष ब्रजेन्द्र सिंह यादव ने कहा कि आज की सरकार बाबा साहब द्वारा बनाए गए संविधान की मूल आत्मा की हत्या कर रही है। हमें भारत के संविधान बचाना होगा, यहीं बाबा साहब के प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी। इस अवसर पर संजय पाल, विजय कुशवाहा, मनाली सिंह रौली , अरविंद वशिष्ठ, विजय झसिया, आरिफ खान, अरविंद पटेल, सोएब मकरानी, विजय प्रताप सिंह, राजेश यादव, महिपत झा, स्वदेश यादव, सौरव वर्मा, प्रवीण यादव, गगन यादव, शशाक यादव, जितेन्द्र पाल, हैदर अली, सचिव जतारिया मौजूद रहे। संचालन विजय कुशवाहा ने किया आभार संजय पाल ने व्यक्त किया।

झाँसी उत्तर प्रदेश

+ There are no comments

Add yours