यूपी का पहला हाई डोनर स्पेफिफिक एंटीबॉडी बोन मैरो ट्रांसप्लांट
1 min read

यूपी का पहला हाई डोनर स्पेफिफिक एंटीबॉडी बोन मैरो ट्रांसप्लांट

रिपोर्ट-आतिफ लुकमान लखनऊ

लखनऊ- चिकित्सा उपचार में नए प्रतिमान और आयाम रचते हुए मेदांता अस्पताल लखनऊ ने एक महत्वपूर्ण ट्रांसप्लांट में हाफ मैच डोनर का उपयोग करके दो अभूतपूर्व बोन मैरो ट्रांसप्लांट को सफलतापूर्वक संपन्न किया। बोन मैरो ट्रांसप्लांट में की गई यह एडवांस्ड प्रक्रिया उन रोगियों के लिए आशा की नई किरण लेकर आई है जो पहले फुल मैच डोनर खोजने की चुनौतियों के कारण सीमित विकल्पों का सामना कर रहे थे। हाफ मैच बोन मैरो ट्रांसप्लांट, जिसे हैप्लोआइडेंटिकल ट्रांसप्लांट के रूप में भी जाना जाता है, संभावित दाताओं के पूल को विस्तारित करता है, जिससे जीवन-रक्षक उपचार की आवश्यकता वाले व्यक्तियों के लिए उपयुक्त मैच खोजने की संभावना बढ़ जाती है।यह अभिनव दृष्टिकोण ट्रांसप्लांट चिकित्सा के क्षेत्र में एक सफलता की नई इबारत लिखता है। मेदांता अस्पताल लखनऊ में इस प्रक्रिया की देखरेख कर रहे हेमेटो-ऑन्कोलॉजी के निदेशक डॉ. अंशुल गुप्ता ने कहा, “हम खतरनाक बीमारी अप्लास्टिक एनीमिया से पीड़ित 22 वर्षीय रोगी में हाई डोनर स्पेफिफिक एंटीबॉडी के साथ यूपी का पहला बोन मैरो ट्रांसप्लांट करने में सफल रहे हैं, जिससे मरीज को नया जीवनदान मिला। डोनर के लिए विशिष्ट एंटीबॉडी की उपस्थिति एंटीबॉडी रिजेक्शन का कारण बन सकती है और इसलिए इसे ज्यादातर मामलों में प्रत्यारोपण के मामले में एक विरोधाभास माना जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *