गुरसरांय में 3 घंटे से अधिक समय लगा रहा जाम स्थानीय पुलिस कार्यशैली पर उठे सवाल, एसपी ग्रामीण के आश्वासन के बाद खुला जाम
1 min read

गुरसरांय में 3 घंटे से अधिक समय लगा रहा जाम स्थानीय पुलिस कार्यशैली पर उठे सवाल, एसपी ग्रामीण के आश्वासन के बाद खुला जाम

रिपोर्ट-शौकीन खान/कौशल किशोर गुरसरांय

गुरसरांय(झाँसी)। 24 नवंबर शुक्रवार को गुरसरांय में दिन के 11:00 से लगभग 2:00 बजे तक पूरी तरह मोदी चौराहे पर चक्का जाम लगने से आवागमन अवरुद्ध हो गया और जानकारी के मुताबिक पूरा मामला गुरसरांय थाना अंतर्गत बरमपुरा में 15 नवंबर 2023 को बरमपुरा मौजा अंतर्गत खेत के विवाद को लेकर एक पक्ष ने ताबड़तोड़ अवैध असलाह,कुल्हाड़ी,डंडा आदि से कुछ बाहरी लोगों को बुलाकर बरमपुरा निवासी संतोष कुमार पुत्र केचू सहित 6 लोगों जिसमें महिला,पुरुष सम्मिलित हैं पर गंभीर हमला कर दिया था जिसकी गुरसरांय थाना में सुरेंद्र पाल सिंह पुत्र आनंदीलाल ने ग्राम खिदरपुरा निवासी धर्मेंद्र, अनंतराम पुत्रगण रामसेवक पुत्र बाबूलाल 3 अज्ञात लोगों के विरुद्ध घटना के दो दिन बाद 17 नवंबर 2023 को धारा 147,148,149,307,323,504,506 में दर्ज कराया था।और इतनी बड़ी घटना गुजर जाने के बाद गुरसरांय पुलिस सिर्फ एक अभियुक्त को ही गिरफ्तार कर पाई थी।इसी दौरान उक्त घटना में गंभीर रूप से घायल संतोष कुमार पुत्र केचू जोकि मेडिकल कॉलेज झांसी में इलाज दौरान 21/22 नवंबर की रात्रि मौत हो गई थी लेकिन पुलिस द्वारा लगातार पूरे प्रकरण में अभियुक्तों के विरुद्ध गिरफ्तारी से लेकर कानूनी विधिक कार्रवाई में उदासीनता के चलते मृतक परिवारजनों गांव एवं आसपास के क्षेत्र के लोगों मे रोष व्याप्त हो गया। जिसके चलते आज 24 नवंबर को पहले बरमपुरा सहित आसपास के लोग एरच रोड गुरसरांय मोठ़ तिराहे पर जमा हो गए।जहां पुलिस और और ग्रामीणों के बीच जाम न लगाया जाए को लेकर चर्चा चल रही थी। इसी दौरान भारी संख्या में ट्रैक्टरों पर भरकर महिलाएं, पुरुष,बच्चे कई ट्रैक्टरों सहित मोदी चौराहे पर पहुंच गए और ट्रैक्टर को सड़क पर लगाकर बड़ी संख्या में महिलाएं मुख्य सड़क पर लेट गई और यहां तकरीबन 3 घंटे जबरदस्त जाम लगा रहा। जिससे गुरसरांय कस्बा एरच मऊ रोड सहित गुरसरांय आवगमन पूरी तरह बन्द हो गया।यहां तक की एंबुलेंस से लेकर कई आवश्यक कार्य वाले वाहन किसी तरह टाउन क्षेत्र के अन्य मार्गो से निकल सके उधर मोदी चौराहे पर महिलाओं एवं ग्रामीणों का जबरदस्त गुस्सा स्थानीय पुलिस प्रशासन के विरुद्ध देखा गया जब स्थानीय व क्षेत्रीय प्रशासन से मामला नहीं सुलझा तो जिले के एसपी ग्रामीण गोपीनाथ सोनी,गरौठा डिप्टी कलेक्टर श्वेता साहू सहित पूंछ, चिरगांव,गरौठा,एरच,समेत कई क्षेत्र की पुलिस मौके पर पहुंच गई और कड़ी मशक्कत के बाद एसपी ग्रामीण गोपीनाथ सोनी,डिप्टी कलेक्टर श्वेता साहू और यहां तैनात रहे थानाध्यक्ष पूँछ अरुण कुमार तिवारी और चक्का जाम कर रहे महिला, पुरुषों ग्रामीणों के बीच बहुत ही सारगर्भित आपसी सौहार्द और विश्वास के बीच जब संवाद हुआ तो एसपी ग्रामीण और डिप्टी कलेक्टर सहित पुलिस के अधिकारियों ने आश्वासन दिया कि 24 घंटे के भीतर सभी अभियुक्तों को गिरफ्तार अथवा सख्त विधिक कार्रवाई की जावेगी और इस पर मामला सुलझाने की ओर आगे बड़ा।और चक्का जाम खुलने से जहां पुलिस प्रशासन ने राहत की सांस ली वही आवागमन सुचारू रूप से चालू हो सका। मुख्य मार्ग पर लगभग 3 घंटे चक्का जाम होने से मोदी चौराहे के दोनों और वाहनों की लंबी-लंबी कतारे लग गई थी यहां तक की दो पहिया वाहन का आवागमन अवरुद्ध रहा बताते चलें गुरसरांय में मोदी चौराहे पर इतना लंबा जाम इतनी लंबी अवधी तक कभी नही लगा। यह कानून व्यवस्था की पोल खोलता दिख रहा है बात यही नहीं रुकती वर्तमान थानाध्यक्ष के कार्यकाल में झांसी जिले के गुरसरांय कस्बे के मोहल्ला पायगा में रहने वाले अनीस मोहम्मद की पुत्री सफीना बानो की मृत्यु के उपरांत कब्र में दफनाई गई सफीना बानो के शव को ठीक 21 दिन बाद जिलाधिकारी झांसी के आदेश के बाद शव को बाहर निकाल कर मृतक के पिता की तहरीर पर पोस्टमार्टम किया गया था और उसके विसरा की जांच आगरा गई हुई है जो अभी तक नहीं आई है यह सब विवाद और तनाव कानून व्यवस्था पर सवाल पर सवाल गुरसरांय पुलिस पर उठ रहे हैं तो दूसरी ओर जिले के पुलिस अधिकारियों द्वारा व्यवस्था सुधार हेतु कदम न उठाया जाना अपने में एक सवाल और खड़ा करता है और लगातार गुरसरांय क्षेत्र की कानून व्यवस्था चौपट हो रही है। अब देखना है कि जिला प्रशासन से लेकर पुलिस के आला अधिकारी क्या कार्रवाई करते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *