रिपोर्ट-शौकीन खान/कौशल किशोर गुरसरांय

गुरसरांय (झांसी)।पटकाना के खेरापति हनुमानजी मंदिर पर चल रही कथा के तीसरे दिन भगवान की बाल लीलाओं का वर्णन किया।
भागवत कथा व्यास पं दीपक कृष्ण शास्त्री ने भगवान की माखन चोरी,ऊखल बंधन एवं गोवर्धन पूजा का वर्णन किया।
उन्होंने कहा कि भगवान के घर दूध दही माखन की कोई कमी नहीं थी,लेकिन ब्रज की गोपियों के मनोरथ को पूर्ण करने के लिए माखन चोरी को माध्यम बनाया।उन्होंने कहा कि इन्द्र के अभिमान को मिटाने के लिए भगवान ने गोवर्धन पूजा करवाई तथा इन्द्र के कोप से ब्रजवासियों की रक्षा की।
कथा की आरती श्रीमती इंदिरा खरे ने की।
इस मौके पर पूर्व प्रधानाचार्य महेन्द्र पाल खरे,देवेन्द्र घोष,लक्ष्मी श्रीवास,रानू तिवारी,आत्माराम फौजी,सुरजीत सिंह,प्रेमनारायण सिंह,उमाशंकर विदुआ,राकेश त्रिपाठी, मिथलेश सेन ,लक्ष्मीनारायन सिंह घोष,हरगोविंद घोष,सुरेन्द्र सिंह,सज्जन सिंह,बैजनाथ विश्वकर्मा, रामाभिलाष घोष,नित्या, नव्या,काव्या आदि उपस्थित रहे।

झाँसी उत्तर प्रदेश

+ There are no comments

Add yours