बेतवा प्रखण्ड सिंचाई विभाग में सब गोलमाल है आखिर सुनने वाला कौन….?
1 min read

बेतवा प्रखण्ड सिंचाई विभाग में सब गोलमाल है आखिर सुनने वाला कौन….?

रिपोर्ट-शौकीन खान/कौशल किशोर गुरसरांय

गुरसरांय (झांसी)। सिंचाई विभाग बेतवा उपखण्ड तृतीय गुरसरांय नहर समेत मुख्य नहर और नहर कोठी गुरसरांय कार्यालय परिसर में डेढ़ करोड़ रुपए की लागत से बन रहे भवनों से लेकर मुख्य नहर और बेतवा उपखण्ड की सभी नहरों माइनरों का सफाई आदि कामों की मॉनिटरिंग करने वाले अवर अभियंता,सहायक अभियंता से लेकर अधिशासी अभियंता बेतवा प्रखण्ड झांसी सभी कामों पर पर्दा डाले हुए हैं और सब के सब गोलमाल चल रहा है बेतवा उपखण्ड कार्यालय गुरसरांय परिसर की बाउंड्रीवॉल आधी अधूरी निर्माण की डली हुई है जिससे परिसर में जानवरों का विचरण होता रहता है तो दूसरी ओर लगातार दूसरे वर्ष भी भले ही कागजों में वृक्षारोपण हुआ हो। पर मौके पर सब गोलमाल है। डेढ़ करोड़ रुपए की लागत से बन रहे आवास आदि भवनों की लागत और कार्य अवधि से लेकर बोर्ड पर जो अंकित होना चाहिए। कार्यदायी संस्था का नाम कार्य की कुल लागत अवधी आदि आदि कोई भी बोर्ड नही लगा हुआ है। दूसरे ओर मापक से गिरे स्तर का काम हो रहा है पूरे कार्यालय परिसर में गंदगी से लेकर झाड़ झंकार लगे हुए हैं यहां तैनात सहायक अभियंता से लेकर कोई भी अवर अभियंता यहां नहीं रहता है और सहायक अभियंता,अधिशासी अभियंता अपनी ऊंची पहुंच के चलते नहर विभाग के पूरे सिस्टम को फेल किए हुए हैं इस समय हर नहर माइनरों को साफ सफाई करने का युद्ध स्तर पर काम होना चाहिए लेकिन काम कहां हो रहा है।कहां नहीं हो रहा है और कौन अधिकारी मॉनिटरिंग कर रहा है और कौन ठेकेदार है सब के सब गोलमाल है जबकि रबी के लिए चंद्र दिन में ही किसानों को पलेवा के लिए पानी की आवश्यकता है लेकिन केंद्र और राज्य सरकार द्वारा किसानों के हित में खेतों पर सुगमता से पानी पहुंचे भारी भरकम बजट का पिटारा खोल दिया है लेकिन अभियंताओं की और ठेकेदारों की मिलीभगत के चलते प्रदेश,केंद्र सरकार की मंशा पर पूरी तरह पानी फिरता नजर आ रहा है। बताते चलें बेतवा की इस नहर से बड़वार बांध को जोड़ने के लिए नहर खोद दी गई है लेकिन इस काम में भारी अनियमितताओं के चलते इस नहर का उद्देश्य होना चाहिए वह अपने में सवाल खड़े कर रहा है जिसको आज भी पूरे सिस्टम को निरीक्षण कर देखा जा सकता है लेकिन ठेकेदारों,अधिकारियों की मिलीभगत का किसानों को खामियाजा भुगतना पड़ रहा है और यहां पर सब गोलमाल है क्षेत्र की जनता ने इस संबंध में प्रदेश की सरकार से उच्चस्तरीय जांच कार्यवाही की पहल की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *