रिपोर्ट -महादेव भास्कर कटेरा
कटेरा (झांसी) पर्यूषण महापर्व के समापन पर नगर के सुपार्श्वनाथ दिगंबर जैन मंदिर में क्षमावाणी पर्व धूमधाम से मनाया गया। इससे पहले मंदिर से श्रीजी का विमान निकाला गया। जिसका जगह-जगह स्वागत हुआ।
शुक्रवार को सुबह से ही भारी संख्या में जैन धर्मावलंबी मंदिर पहुंचने लगे थे। वहां 1008 श्री शांतिनाथ भगवान का अभिषेक, शांतिधारा पूजन, विधान आदि कार्यक्रम हुए।
इसके बाद में विमानोत्सव कार्यक्रम के तहत सुपार्श्वनाथ मंदिर से श्रीजी की भव्य शोभायात्रा निकाली गई। इसमें शांतिनाथ भगवान को विमान में लेकर श्रद्धालु चल रहे थे। शोभायात्रा में धर्म ध्वजा लेकर श्रेष्ठीजन चल रहे थे और डीजे की मधुर धार्मिक धुनों पर युवा नृत्य करते चल रहे थे। महिलाएं मंगल गीत गाती हुई तथा सत्य – अहिंसा, जियो और जीने दो के नारे लगाते हुए चल रहे थे। शोभायात्रा नगर भ्रमण करती हुई 1008 चन्द्रप्रभु मंदिर से वापस सुपार्श्वनाथ दिगंबर जैन मंदिर पहुंचीं, जहां भक्तों ने मंगल आरती उतारी और शोभायात्रा का स्वागत किया।
श्रद्धालुुुओं ने चमर ढोरे और मंगल आरती उतारी।
बाद में क्षमावाणी का आयोजन किया गया, इसमें सभी ने गत वर्ष में की गई गलतियों और भूलों के लिए एक दूसरे से क्षमा मांगी। इस अवसर पर खुशी जैन, राशी जैन, माही जैन, गोरेलाल जैन, राजेन्द्र जैन, नरेन्द्र जैन, जिनेन्द्र जैन, पुष्पेन्द्र जैन, डालचंद्र जैन, कमलेश जैन, संतोष जैन, राजेश जैन, धर्मचन्द्र जैन, खेमचंद जैन, आजाद जैन, मुकेश जैन, जगोले जैन, मनोज जैन, विनोद जैन, प्रदीप जैन, रूपेश जैन, सुधीर जैन, कलकल जैन, घप्पू जैन, रविन्द्र जैन, पुचिन जैन, नीरज जैन, पपोले जैन, मुन्ना जैन, राजकुमार जैन उपाध्यक्ष (BJYM), शैलू जैन, आकेश जैन, विवेक जैन, सौरभ जैन, जयदीप जैन, दीपक जैन, पारष जैन, प्रिंस जैन, अरिहंत (नान्टू) जैन, नमन जैन, सम्यक जैन, मीरा, जयंती, सुनीता, सपना, रेखा, रुचि, डोली, मधु, संगीता, रानू, मंजू, सुलोचना, एकता, सारिका, ममता, रिंकू, सोनू, अल्पना, पिंकी, विभा, नेहा, दिव्या, शिरोमणि सहित जैन धर्मावलंबी मौजूद रहे।

झाँसी उत्तर प्रदेश

+ There are no comments

Add yours