वन ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाना शासन की सर्वोच्च प्राथमिकता – डीएम
1 min read

वन ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाना शासन की सर्वोच्च प्राथमिकता – डीएम

ललितपुर । भारत सरकार एवं प्रदेश सरकार द्वारा कराये जाने वाले विभिन्न गुणवत्तायुक्त सांख्यिकीय आंकड़ों के संग्रहण हेतु आयोजित Sensitization workshop का आयोजन जिलाधिकारी आलोक सिंह की अध्यक्षता में कलैक्ट्रेट सभागार में आयोजित किया गया । बैठक में जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि सर्वे में मिले आंकड़ों पर भावी योजनाएं निर्भर होती हैं इसलिए सही एवं स्पष्ट डाटा उपलब्ध कराएं। ऐसे विभाग जिनमें कार्मिकों या श्रमिकों की संख्या अधिक हैं वे अपने स्तर से उनका स्पष्ट डाटा उपलब्ध करायें। श्रम प्रवर्तन अधिकारी जनपद में संचालित इकाई संचालकों को उनके श्रमिकों का पीएफ एवं ईएसआईसी

में रजिस्ट्रेशन कराने हेतु प्रेरित करें। इसलिए सर्वेक्षणकर्ताओं को वांछित सही सूचना देकर उनको सहयोग प्रदान करें।
कार्यशाला में जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी राजेश कुमार सिंह ने बताया कि उत्तर प्रदेश को ‘वन ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाना शासन की सर्वोच्च प्राथमिकता है। इस हेतु
विभिन्न sectors का GVA आंकलन करने हेतु प्रदेश में विभिन्न प्रकार के सर्वेक्षण यथा – ASUSE, PLFS, NSS, ASI संचालित हैं। कार्यशाला का मुख्य उद्देश्य जनपद में राष्ट्रीय
सांख्यिकीय कार्यालय, भारत सरकार और अर्थ एवं संख्या प्रभाग, उ0प्र0 द्वारा कराये जा रहे इन सर्वेक्षणों के बारे में जागरूकता बढाना है। इन सर्वेक्षणों से प्रदेश में संचालित विकासोन्मुख योजनाओं में हो रहे निवेश के दृष्टिगत विनिर्माण, व्यापार एवं अन्य सेवा क्षेत्र में परिलक्षित हो
रहे विकास की वास्तविक स्थिति के अनुरूप आंकड़े संग्रहित हो रहे हैं, जो उत्तर प्रदेश को ‘वन ट्रिलियन डॉलर’ अर्थव्यवस्था बनाने और राष्ट्र निर्माण में योगदान की दिशा में भी बहुत
महत्वपूर्ण हो जाते हैं। इस कार्यशाला में हितधारक (stakeholders) अर्थात परिवार, कारखाने, दुकानें, छोटे व्यवसाय, स्वास्थ्य देखभाल इकाइयाँ, क्लब, शिक्षा संस्थान, कानूनी और परिवहन संगठन आदि को यह आश्वस्त किया जाता है कि उनके द्वारा साझा की गई जानकारी का उपयोग उनकी व्यक्तिगत पहचान उजागर किए बिना केवल सांख्यिकीय उद्देश्यों के लिए किया जाएगा। बैठक में बताया गया कि जनपद केवल 05 उत्पादन इकाईयों का डाटा संकलित किया जाता है, जबकि यहां कई इकाईयां संचालित हैं, जो अपने उत्पादन को कम दिखाती हैं या सही आंकड़े उपलब्ध नहीं करातीं। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी कमलाकांत पाण्डेय, उप निदेशक अर्थ एवं संख्या एसएन त्रिपाठी, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ इम्तियाज अहमद, उपायुक्त एनआरएलएम नीरज कुमार श्रीवास्तव, परियोजना निदेशक डीआरडीए एके सिंह, उपायुक्त श्रम रोजगार रविन्द्रवीर यादव, एलडीएम रंजीत कुमार, डीएसटीओ राजेश कुमार सिंह, एआरटीओ मो० कयूम,
डीआईओएस ओपी सिंह, सहायक निदेशक सूचना सुरजीत सिंह, जिला कृषि अधिकारी राजीव कुमार भारती, अधिoअधिकारी नपा निहालचन्द्र, जिला ग्रामोद्योग अधिकारी आरडी वर्मा, जिला कार्यक्रम अधिकारी नीरज सिंह, एसडीएफओ डॉ शिरीन सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी
एवं उत्पादन इकाईयों के प्रतिनिधि उपस्थित रहे।

12 thoughts on “वन ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाना शासन की सर्वोच्च प्राथमिकता – डीएम

  1. Wow, superb blog layout! How long have you been blogging for?

    you made blogging glance easy. The full look of your site is wonderful, let alone the content material!

    You can see similar here ecommerce

  2. After looking at a few of the blog articles on your web site, I truly
    appreciate your way of blogging. I bookmarked it to my
    bookmark site list and will be checking back in the near future.
    Please check out my web site as well and let me know how you feel.
    I saw similar here: Sklep online

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *