कलयुग में जीवन जीने का सार सिखाती है श्रीमद्भागवत कथा: डॉ. संदीप
1 min read

कलयुग में जीवन जीने का सार सिखाती है श्रीमद्भागवत कथा: डॉ. संदीप

गुरु पूर्णिमा के पावन पर्व पर पिछोर रोड स्थित महाकालेश्वर सुंदरपुरी बाग, आनंदेश्वर, लंगड़ बाबा मंदिर बड़ा गांव गेट बाहर स्थित श्री दत्तात्रेय रूद्र महायज्ञ एवं सप्त दिवसीय श्रीमद् भागवत ज्ञान यज्ञ सप्ताह संगीतमय कथा के प्रथम दिवस पर कलश यात्रा एवं मंडप प्रवेश में मुख्य के रूप सम्मिलित हुए समाजसेवी संघर्ष सेवा समिति डॉ. संदीप सरावगी। सर्वप्रथम सप्तदिवसीय श्रीमद् भागवत ज्ञान यज्ञ के आयोजक वीरेंद्र गिरी महाराज एवं आयोजक कथा व्यास पंडित विवेक मिश्र शास्त्री ने डॉ. संदीप सरावगी का पुष्प माला पहनाकर स्वागत किया। डॉ. संदीप सरावगी ने कलश यात्रा एवं मंडप प्रवेश में उपस्थित गुरुओं का शुभाशीष प्राप्त किया। इसके पश्चात डॉ. संदीप सरावगी ने महिलाओं के सर पर कलश को रखकर यात्रा को हरी झंडी दिखाकर कलश यात्रा का शुभारंभ किया।

कलश यात्रा में कथाव्यास पं. विवेक मिश्र शास्त्री को रथ पर बैठाकर ग्रामीण श्रद्धालु हरि कीर्तन करते हुए कलश यात्रा के पीछे पीछे चल रहे थे। महिलाओं ने अपने सर पर कलश सजाकर नाचते गाते हुए परिक्रमा की। इस दौरान जयकारों से नगर गुंजायमान हो उठा। कलश यात्रा का जगह-जगह स्वागत किया गया। नगर के लोगों ने अपने मकानों की छत से कलश यात्रा पर पुष्प वर्षा की। शोभा यात्रा लंगड़ बाबा मंदिर से सखी के हनुमान होते हुए विभिन्न मार्गों से होते हुए कथा स्थल पहुंची। इस मौके पर डॉ. संदीप सरावगी ने कहा कि सनातन संस्कृति में कन्या को देवी का दर्जा दिया गया है, 27 जून को मेरे द्वारा आयोजित सनातन संस्कृति हिंदू रीति रिवाज अनुसार 11 हजार कन्याओं का पूजन व विशाल भंडारा भगवान राजाराम की नगरी, ओरछा में संपन्न होने जा रहा है। इस आयोजन में अधिक से अधिक संख्या में सम्मिलित व सहयोग देकर कार्यक्रम को सफल बनाएं। इस मौके पर मुख्य भागवत परिच्छत मीरा गुप्ता, यजमान यज्ञ, सुनीता घनश्याम गुप्ता, पारुल विनीत गुप्ता, पंडित. राजेश नायक (प्रदेश संयोजक, हिंदू जागरण मंच), पंडित प्रवीण पचौरी, संचालक बजरंग गिरि महाराज, पंडित वीरेंद्र पुरोहित, पंडित सतीश चंद्र लिटोरिया, आलोक दुबे, कौशल महाराज, पं. दिलीप पुरोहित, पंडित मनीष गोस्वामी, नरोत्तम मिश्रा, पं अवधेश दीक्षित एवं संघर्ष सेवा समित से संदीप नामदेव, नीरज सिहोतिये (सभासद, कैंट), त्रिलोक कटारिया, महेश गुप्ता (मामा), राजू सेन सहित सैकड़ों की संख्या में श्रद्धालुगण उपस्थित रहे।

One thought on “कलयुग में जीवन जीने का सार सिखाती है श्रीमद्भागवत कथा: डॉ. संदीप

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *