जमीन की खरीद-फरोख्त में सात नटवरलालों पर मुकदमा हुआ दर्ज, राजस्व विभाग की भूमिका भी चर्चा में
1 min read

जमीन की खरीद-फरोख्त में सात नटवरलालों पर मुकदमा हुआ दर्ज, राजस्व विभाग की भूमिका भी चर्चा में

रिपोर्ट -शौकीन खान/कौशल किशोर गुरसरांय

गुरसरांय (झांसी)। परिवार के ही मिस्टर नटवरलाल ने फर्जी तरीके से जमीन को हड़प कर कई लोगों को जमीन को बेचकर कई लाखों रुपए की बेशकीमती जगह कई लोगों को बेचकर कब्जा कर लिया है। और इस पूरे मामले में जब पीड़ित उमाकांत पाराशर पुत्र छोटे लाल पाराशर निवासी गुरसरांय ने परगना प्रशासन से लेकर आला अधिकारियों को आपबीती लिखित शिकायत की तब गरौठा डिप्टी कलेक्टर अतुल कुमार के विशेष प्रयास से यह मामला महीनों विवेचना के नाम पर टलता रहा बाद में योगी सरकार की बेहतरीन कार्यशैली के चलते पीड़ित उमाकांत पाराशर की तहरीर पर यह मामला आधा दर्जन से अधिक लोगों के विरुद्ध थाना गुरसरांय में दर्ज हो गया है जिसमें क्रेता विक्रेता समेत 7 लोगों के विरुद्ध जो मुकदमा दर्ज हुआ है उसमें चंद्रकांत पाराशर पुत्र रामस्वरूप पाराशर निवासी गुरसरांय,क्रांति देवी पत्नी नित्यानंद मोदी गुरसरांय झांसी, रचना जैन पत्नी मनीष जैन बाजार गुरसरांय,सपना जैन पत्नी नीरज जैन होलीपुरा चिरगांव झांसी,रोशनी जैन पत्नी अनुज जैन होलीपुरा चिरगांव झांसी, कमलाकांत पुत्र रामेश्वर मड़पुरा गुरसरांय झांसी,मुकेश कुमार पुत्र केशवदास आमली गुरसरांय के विरुद्ध धारा 420,468,504,506,120-बी धाराओं में यह मामला दर्ज हुआ है बताते चलें यह तो नाम दर्ज लोग क्रेता विक्रेता हैं इस पूरे प्रकरण की अगर गहनता से जांच कर कार्यवाही होती है तो निश्चय है की राजस्व विभाग के लेखपाल से लेकर और भी बड़े अधिकारी इस प्रकरण में फस सकते हैं और इस पूरे मामले की जांच के लिए एक उच्च टीम जिला प्रशासन को गठित करना शासन की मन्शा अनुरूप बेहतर सुखद परिणाम सामने आ सकता है क्योंकि राजस्व विभाग के लेखपाल से लेकर कई अधिकारियों की इस पूरे प्रकरण में कहीं ना कहीं प्रत्यक्ष,अप्रत्यक्ष भूमिका नजर आ रही है ऐसे लोगों की कार्यशैली के चलते आज किसान से लेकर आमजन बुरी तरह प्रताड़ित है और दिन प्रतिदिन राजस्व विभाग के मिस्टर नटवरलाल अपनी भूमिका सिर्फ अवैध धन कमाई के चक्कर में भू माफियाओं से मिलकर गरीबों और आम जनों को बर्बाद करने पर तुले हैं अब देखना है इस पूरे मामले में कितने समय के भीतर क्या कार्रवाई होती है? इसको लेकर कस्बे से लेकर क्षेत्र के लोगों की निगाहें टिकी हुई हैं और लोगों ने जिला प्रशासन से लेकर शासन से इस प्रकार के मामलों में उच्चस्तरीय कार्यवाही की पहल की है ताकि बार-बार इस प्रकार की पुनरावृति पर रोक लग सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *