September 19, 2020

मृत समझकर जिस नाबालिक के नरकंकाल को किया था अग्नि के सुपुर्द, 3 वर्ष बाद आया वापस

<< उलझा अज्ञात नर कंकाल को जलाने का मामला >>

पत्रकारशरद अग्रवाल

बिजावर। प्राकृतिक स्थान मोनासैया के जंगल में 3 वर्ष पूर्व एक नर कंकाल मिला था कपड़ो की पहचान को लेकर पुलिस ने एक व्यक्ति को सौंप दिया था जिसका पुत्र गायब था और परिजनों ने जनसमूह की उपस्थिति में उस नर कंकाल को अपना पुत्र समझकर अंतिम संस्कार कर दिया था मामले में उस समय नया मोड़ आ गया जब वही नाबालिक जिसको मृत समझकर 3 वर्ष पूर्व अंतिम संस्कार किया गया था वह दिल्ली से रविवार की रात दिल्ली से अपने घर वापस आया।पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार विजावर अनुभाग के शाहगढ थाना क्षेत्र अंतर्गत डिलारी निवासी उदय कुमार आदिवासी पुत्र भगोला आदिवासी उम्र 13 वर्ष गायब हो गया था जिसमें थाना पुलिस ने फरियादी भगोला पुत्र परमलाल की शिकायत पर पुलिस ने धारा 363 का मामला दर्ज किया था और तभी से पूरे मामले की जांच थाना पुलिस द्वारा की जा रही थी और संदेह के आधार पर कई लोगों से पूछताछ भी की गई थी रविवार की रात वही नाबालिक उदय कुमार जिसे मृत मानकर एक नर कंकाल को अनुमान के आधार पर अंतिम संस्कार किया गया था वह वापस आ गया उदय कुमार आदिवासी ने बताया कि वह घर से परेशान होकर 3 वर्ष पूर्व दिल्ली चला गया था उसके बाद गुड़गांव में 3 वर्ष से काम करके अपना गुजर बसर कर रहा था लेकिन कोरोना वायरस के चलते पिछले 2 माह से काम बंद होने से वह परेशान हो गया था और सभी मजदूरों को प्रशासन की देखरेख में अपने अपने गांव वापस भेजने का प्रबंध किया जा रहा था इसी दौरान उदय कुमार आदिवासी भी रविवार को किसी तरह अपने गांव डिलारी पहुंच गया और परिजनों से जा मिला पिता भगोला ने बताया कि इसकी सूचना उसने थाना पुलिस को दी और सोमवार को पूरे परिजन और खुद उदय कुमार एसडीओपी कार्यालय बिजावर पहुंचे जहां जांच पड़ताल के बाद पुलिस ने उदयभान को परिजनों के सुपुर्द कर दिया

आखिर 3 वर्ष पूर्व किसका किया गया था अंतिम संस्कार और किसका था वह नर कंकाल

3 वर्ष पूर्व अज्ञात नर कंकाल का उदय कुमार समझ कर परिजनों द्वारा अंतिम संस्कार किया गया था वह किसका था जब उदय कुमार सुरक्षित अपने घर लौट आया है यह बड़ा जांच का विषय है थाना प्रभारी छत्रपाल सिंह ने बताया कि जब उदय कुमार वापस लौट आया है तो निश्चित ही वह नर कंकाल किसका था यह जांच का विषय है विवेचना के बाद ही यह सब स्पष्ट हो सकेगा

पिता ने लगाए थे हत्या के आरोप कई लोगो को किया पुलिस ने परेशान

3 वर्ष पूर्व जब उदय कुमार गुम हुआ और नही मिला और जंगल में संदिग्ध परिस्थिति में एक नर कंकाल मिला तब उदय के परिजनों ने थाना पुलिस में मामला दर्ज कराते हुए हत्या की आशंका जताई थी। इस दौरान पुलिस ने विभिन्न पहलुओं पर जांच करते हुए कई लोगों से कढ़ाई से पूछताछ भी की थी और परिजन द्वारा लगातार वरिष्ठ अधिकारियों को की जा रही शिकायत को लेकर पुलिस भी लोगों पर प्रताड़ित करती रही है और आज उदय के बापिस आने बात साफ हुई लेकिन नरकंकाल किसका था यह सवाल अभी भी जस का तस है।

तीन – वर्ष पूर्व गायब व्यक्ति वापस आया है यह खुशी की बात है इसके अलावा मामले की गंभीरता से जांच कराई जा रही है,,
सीताराम अवश्या-एसडीओपी विजावर